Article-1 Indian constitution In Hindi

Article-1 Indian constitution In HindiDear Student’s, आज के इस Lecture में बात करेंगे Article-1 Indian Constitution के बारे में यानि भारतीय संविधान के Article-1 में क्या है, भारतीय संविधान में अनुच्छेद -1 क्या है?Article 1 में क्या नियम आते है, Article-1 किस नियम पर आधारित है.

आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की अनुच्छेद -1 (Article-1) क्या है, भारतीय संविधान में अनुच्छेद -1 से रिलेटेड  ये सारे Topic हम Article-1 India constitution के Lecture में कवर करेगे. तो चलिये दोस्तों, जानते है की ये Article-1 Indian constitution क्या है, Article 1 क्या नियम आते है अनुच्छेद -1 भारतीय संविधान क्या है?

Lectures Covering Topics – Article-1 Indian Constitution In Hindi

  • What Is Indian constitution In Hindi – अनुच्छेद -1 भारतीय संविधान क्या है?
  • Article-1 Indian constitution क्या है? – What is Article-1 in Indian constitution?
  • What are the rules of Article-1 Indian constitution? – अनुच्छेद -1 के नियम क्या है?

Indian Constitution In Hindi और अनुच्छेद -1 भारतीय संविधान क्या है?

Indian Constitution ये एक  संविधान है जिसकी मदद से अपने देश के खून और नियम को  लागु करते है. Indian Constitution यानि भारत के संविधान को 26 जान 1950 में लागु किया गया था इसी वजह से हम 26 January बनाते है.

भारतीय संविधान के भाग

भारतीय संविधान 22 भागों में विभजित है तथा इसमे 395 अनुच्छेद एवं 12 अनुसूचियां हैं। हर भाग के अंदर कुछ आर्टिकल आते है और भाग 1 यानि  संघ और उसका क्षेत्र (Union and its territory ) में आर्टिकल 1 से लेकर 4 तक रखे गए है|

तो चलिए आज हम इस पोस्ट में भाग 1 यानि संघ और उसका क्षेत्र (Union and its territory ) में आर्टिकल 1 से लेकर 4  के बारे में जानेंगे|

संघ और उसका क्षेत्र -Union and It’s Territory

Union and its Territory यानि  संघ और उसका क्षेत्र के भाग में बताया है की जब सेंट्रल गवर्नमेंट(Central government) या प्रेजिडेंट ऑफ़ इंडिया (President of India) को किसी भी स्टेट को 2 भाग में डिवाइड करना है तो उसके लिए भाग 1 का use करते है जैसे की 1953 में आंध्र प्रदेश और मद्रास प्रदेश को 2 स्टेट में बाटे गए था.

भारतीय संविधान में 1956 Union and its Territory यानि  संघ और उसका क्षेत्र act लाया गया. जिससे हम -किसी भी स्टेट को 2 हिस्से में डिवाइड कर सकते है. तो चलिए देखते है आर्टिकल 1-4 में ये नियम क्या कहता है

Article-1 Indian Constitution –Article 1 Union of State और अनुच्छेद 1 राज्य संघ

Article 1 यानि Union Of State को 3 clause में divide किया गया है. तो चलिये दोस्तों, इन सब clause के बारे में एक एक करके जानते है|

  • भारत एक राज्य संघ होगा- India , that is Bharat, shall be a union of state
  • राज्य और क्षेत्र के अनुसार पहली अनुसूची में निर्दिष्ट किया जाएगा- The States and the territories there of shall be as specified in the First Schedule
  • भारत के रायक्षेत्र म,– The Territory of India shall comprise
  • राज्य का क्षेत्र- The territory of the state
  • केंद्र शासित प्रदेश- Union territory
  • वह क्षेत्र जो किसी भी समय भारत सरकार द्वारा अधिग्रहित किया जा सकता है

भारत एक राज्य संघ होगा – India shall be a union of state

“India, that is Bharat ” आपको इसमें एक India दिख रहा होगा और Bharat आप सोच रहे होंगे ये तो एक ही बात लेकिन दोस्तों इसके एक Logic जो कंस्टीटूशन असेंबली (Constitution Assembly) जो थी वह पर डिबेट हो रहा था की इंडिया का क्या नाम रख जाये कुछ लोग बोल रहे थे कि इंडिया का नाम इंडिया ही रहने देते है.

क्योंकि ये मॉडर्न (Modern name) नाम और कुछ लोग बोल रहे थे कि India का नाम भारत(Bharat) ही रहने देते है क्योंकि ये ट्रेडिशनल नाम है . तो फिर Constitution assemble ने दोनों ही नाम रख दिया इसी वजह से इंडिया

Union of stateUnion (संघ) यानि इंडिया जो है सभी स्टेट्स को मिलकर बना है इसलिए हम Union of states. State को divide करने के लिए State government को authority नहीं दी जाती प्रत्येक अथॉरिटी यही central government और President of India को होती है.

राज्य और क्षेत्र के अनुसार पहली अनुसूची में निर्दिष्ट किया जाएगा

The States and the territories there of shall be as specified in the First Schedule”  India की जो भी State और Territory होगी जो India के First schedule में ज़िक्र है. अभी इंडिया में Total 12 schedule है First schedule बता है की इंडिया की कोन कोन सी state होगी और कोन कोन सी Union Territory होगी. इंडिया में जितनी भी टेरिटरी है या जितनी भी स्टेट है उनको First Schedule बता है

भारत के रायक्षेत्र म,– The Territory Of India shall comprise

“The Territory of India shall comprise” इसमें ये बता है की इंडिया के अंदर क्या आएगा जैसे कि इंडिया की टेरिटरी ऑफ़ स्टेट क्या होगी, यूनियन टेरिटरीज और ऐसे अय रायक्षेत्र जो अिजर्त िकए जाएं, समािव हगे । वह क्षेत्र जो किसी भी समय भारत सरकार द्वारा अधिग्रहित किया जा सकता है

Constitution of India Related Lecture – भारतीय संविधान से सम्बंधित Lecture:-

Dear Students, मैं आशा करता हूँ की आपको Article-1 Indian Constitution In Hindi का Lecture पढ़ कर समझ में आ गया होगा. की Article-1 of Indian Constitution क्या है. यदि आपको अनुच्छेद -1 भारतीय संविधान क्या है? के Lecture से Related कोई भी Problem है तो आप हमे Comment करके पूछ सकते है.

Share This Post On

About Author

Thakur Aman Singh

Hey, I am Aman Singh Tomar from Taj City Agra. Through This Blog I want to share my Knowledge with all of you. Read More >>

One response to “Article-1 Indian constitution In Hindi”

  1. ROHIT KUMAR says:

    aapne bahut hi achha likha hai aur aise hi information sabke sath share krte rahe. thanks share karne ke liye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *