Difference Between C And C++ In Hindi

Difference Between C And Cpp In HindiDear Students, आज के इस Lecture में हम जानेगे Difference Between C And C++ In Hindi के बारे मैं. यानि की सी और सी++ दोनों लैंग्वेज में क्या अंतर है. सी और सी++ लैंग्वेज के Comparison आदि से Related ये सारे Topics हम Difference Between C And C++ मैं कवर करेंगे.

Lectures Covering Topics – C Language और C++ Language के बीच अंतर

  • What Is C Language In Hindi – सी लैंग्वेज क्या है
  • What Is C++ Language In Hindi – सी++ लैंग्वेज क्या है
  • Difference Between C And C++ In Hindi – सी और सी++ के बीच अंतर

Students अगर हम किन्ही 2 object के बीच में different find करना चाहते है. तो सबसे पहले हमे उन दोनों object के बारे में पता होना चाहिए. यहाँ पर हम Difference Between C and C++ करना चाहते है. यानि की सी और सी++ दोनों लैंग्वेज में क्या अंतर है

तो हमें सी और सी++ दोनों लैंग्वेज के बारे में basic तो पता होने चाहिए. जैसे उनकी definition और features आदि. तो चलिए start करते है दोनों लैंग्वेज के बारे में थोडा सा पड़ते है और find the Difference Between C and C++.

What Is C++ Language In Hindi – सी++ लैंग्वेज क्या है

सी++ एक Object Oriented Programming Language है. सी++ Bjarne Stroustrup ने Develop की थी. इस लैंग्वेज के आने से पहले सी और Simula 67 दोनों Popular लैंग्वेज थी. Bjarne Stroustrup एक ऐसी लैंग्वेज बनाना चाहते थे.

जिसमे Object Oriented Programming लैंग्वेज के सभी Features हों. और साथ ही वह लैंग्वेज Familiar भी हो. उनका यह Experiment सी++ Programming Language थी. जो की उन्होंने सी और Simula 67 को मिलकर बनायीं थी.

सी++ को 1979 bell laboratories मैं Develop किया गया था. C++ एक Middle level लैंग्वेज है. इसमें high level और low level दोनों लैंग्वेज के सभी Features होते है. सी++ लैंग्वेज के सभी Features सी++ मैं मिलते है.

अगर आप सी++ लैंग्वेज क्या होती है? के बारे में Detail मैं पड़ना चाहते है. तो आप नीचे दिए हुए लिंक पर Click करके हमारा Previous Lecture पढ़ सकते है.

सी++ Programming Language क्या है  

What Is C Language In Hindi – सी लैंग्वेज क्या है

Students C++ लैंग्वेज एक Structured General Purpose प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है. सी लैंग्वेज को unix operating system को developed करने के लिए बनाया गया था. इससे पहले unix operating system को B लैंग्वेज की सहायता से बनाया गया था.

सी लैंग्वेज को Mother Language भी खा जाता है. सी लैंग्वेज को Procedure-Oriented Programming भी कहा जाता है. और सी लैंग्वेज एक Type फुल Language है जो की हमें बहुत सारे Data Type Provide करता है.

सी लैंग्वेज एक बहुत छोटी और Simple लैंग्वेज थी जिस वजह से बहुत ही काम समय में बहुत ही ज्यादा Popular हो गयी और almost सभी programmer सी लैंग्वेज को Use करते है.

आज के time में बहुत सारी High Level लैंग्वेज होने के बाद भी सी लैंग्वेज की popularity में कोई कमी नहीं है. इसलिए आज कोई भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने से पहले सी लैंग्वेज को सिखाया जाता है.

क्योकि सी लैंग्वेज के बाद जितनी भी Programming लैंग्वेज आई सभी languages ने किसी न किसी तरह से सी लैंग्वेज के syntax को अपनाया है. अब आप से कोई भी पूछे की What Is C Programming Language तो अब आप आसानी से उसको बता सकते है.

अगर आप सी प्रोग्रामिंग भाषा क्या है? के बारे में Detail मैं पड़ना चाहते है. तो आप नीचे दिए हुए Link पर Click  करके हमारा Previous Lecture पढ़ सकते है.

सी Programming Language क्या है

Difference Between C And C++ In Hindi – सी और सी++ के बीच अंतर

जैसा की आपने ऊपर दोनों लैंग्वेज के बारे में Short में पढ़ लिया है. तो अब हम तैयार है find The Difference Between C And C++ के लिए.

SNo. C C++
1) यह एक procedure oriented programming लैंग्वेज है. यह procedure और object oriented programming दोनों लैंग्वेज को फॉलो करती है.
2) सी में virtual function नहीं होते है. सी++ में हम virtual function उपयोग करते है.
3) इसमें हम इनपुट और आउटपुट के लिए printf(), scanf() फंक्शन का उपयोग करते है. सी++ में हम इनपुट और आउटपुट के लिए cin, cout फंक्शन का उपयोग करते है.
4) सी लैंग्वेज में डेटा की सुरक्षा सबसे कम होती है. इसमें हम class और modifiers का उपयोग करके डाटा को यूजर के According बना सकते है.
5) सी प्रोग्रामिंग भाषा मैं top-down approach का उपयोग करते है. सी++ में  bottom-up approach का उपयोग करते है.
6) इसमें हम namespace का उपयोग नहीं करते है. इसमें हम namespace का उपयोग कर सकते है.
7) सी प्रोग्रामिंग भाषा फंक्शन overloading, overriding सपोर्ट नहीं करते है. सी++ overloading, overriding सी++
8) सी Language reference variable को सपोर्ट नहीं करता है. सी++ reference variable को सपोर्ट करता है.
9) इसमें इनहेरिटेंस नहीं होता है. इसमें inheritance होता है.
10) सी मध्य स्तर की भाषा है सी++ high level लैंग्वेज है.
11) इसमें operator overloading नहीं होती है. इसमें operator overloading हो जाती है.
12 इसमें polymorphism का concept नहीं होता है. सी++ में polymorphism का concept नहीं होता है.
13 सी built-in data type को support करता है. सी++ में built-in और user-define दोनों डेटा टाइप को सपोर्ट करती है.
14 सी मैं हम exception handle नहीं कर सकते है. इसमें हम exception handle कर सकते है.
15 इसमें प्रोग्राम को modules और procedures में डिवाइड किया जाता है. इसमें प्रोग्राम को class और function में डिवाइड किया जाता है.

Related Lecture

Note:- किसी भी तरह की फुल फॉर्म पड़ने के लिए आप Full Form In Hindi .com पर क्लिक करके पढ़ सकते है.इसमें आप सीसीसी, जावा, एल आई सी आदि की फुल फॉर्म पड़ सकते है.

Dear Students, मैं आशा करता हूँ की आपको Difference Between C And C++ In Hindi का Lecture पढ़ कर समझ में आ गया होगा की कैसे Keywords क्या होते है. यदि आपको इस Lecture से Related कोई भी Problem है तो आप हमे कमेंट करके पूछ सकते है.

Share This Post On

About Author

Thakur Aman Singh

Hey, I am Aman Singh Tomar from Taj City Agra. Through This Blog I want to share my Knowledge with all of you. Read More >>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *