Features Of C++ In Hindi

Features of C++ In HindiDear Student’s आज के इस Lecture में हम जानेगे Features Of C++ के बारे में. यानी की C++ Language के Qualities के बारे में सबसे Important बात की C++ Language के Platform, Rich library और Performance आदि से Related ये सारे Topics हम Features Of C++ में पड़ेंगे.

Lectures Covering Topics – Features of C++ In Hindi

  • Features Of C++ In Hindi – सी++ लैंग्वेज की विशेषताएँ क्या है
  • Machine Independent In Hindi – इसमें मशीन के स्वतंत्रता है
  • Structure Programming Language – C++ भाषा की संरचना कैसी है
  • How To Rich Library In C++ In Hindi – C++ में रिच लाइब्रेरी
  • Mid-Level Programming Language

Features Of C++ Programming Language In Hindi और सी++ लैंग्वेज की विशेषताएँ क्या है

C++ Language की इतनी Popularity का कारण C++ के Features रहे है. अच्छे Feature ही C++ Language को Unique और Powerful Language बनाते है. तो आईये हम जानते है Features Of C++ के बारे में.

  • सरल और आसान पड़ने के लिए – Simple & Easy To Learn
  • ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज – Object Oriented Programming Language
  • उच्च स्तर और निम्न स्तर की भाषा – High Level & Low Level Language
  • तेज गति – Faster Speed
  • पॉइंटर – Pointer
  • पुनरावर्तन – Recursion
  • मैमोरी प्रबंधन -Memory Management
  • संरचना – Structured
  • रिच लाइब्रेरी – Rich Library
  • मशीन स्वतंत्र और पोर्टेबल – Machine Independent or Portable
  • प्रसार के योग्य – Extensible
  • संकलक आधारित – Compiler Based

Features of C++

1) सरल और आसान पड़ने के लिए – Small & Easy To Learn

C++ Programming Language 32 Reserved Keyword Provide करती है. यह Keyword Programmer को Language पर Control Provide करते है.

सी++ Programming Language बहुत ही Simple Language है. C++ Structure Approach भी provide करती है. किसी भी problem को solve करने के लिए C++ Language में बहुत सारे Library Function और Data Type भी दिए हुए है.

2) Object Oriented Programming Language In Hindi

यह एक ऑब्जेक्ट Oriented Programming Language है. इसमें हम प्रोग्राम को Par tमें Divide कर सकते है. और प्रॉब्लम के आसानी से समझ सकते है.

इसमें OOP Concept Development और Maintenance को आसान बनाते है. और OOP के हेल्प से हम अपने प्रोग्राम को छोटा और कोड को Reuse कर सकते है.

3) Compiler Based

C++ एक Compiler based प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है. इसमें प्रोग्राम को बिना Compile किये Execute नहीं किया जा सकता है. सबसे पहले हमें प्रोग्राम को Compiler की मदद से Compile करना होता है. उसके बाद हम उस प्रोग्राम को Execute कर सकते है.

4) Rich Library

यह Language हमें बहुत सारे in-Built Function प्रोवाइड कराती है. जिसकी सहायता से हम किसी भी प्रोग्राम को बहुत ही Fast बना सकते है.

5) Memory Management

C++ लैंग्वेज Dynamic मेमोरी Allocation के Feature को Support करता है. Free() Functionकी सहायता से हम किसी भी Time मेमोरी Allocate कर सकते है.

6) Pointer & Recursion

यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज Pointer & Recursion Feature को भी provides कराती है. हम pointer की सहायता से मेमोरी को direct handle कर सकते है. हम pointer का प्रयोग Array, Function, Structures के लिए करते है.

7) Middle Level Language

C++ एक middle level लैंग्वेज है क्योकि C++ लैंग्वेज high level or low level application software को बना सकती है. इस लैंग्वेज को भी low level लैंग्वेज की प्रोग्रामिंग करने के लिए प्रयोग किया जाता है.

जिसमे सिस्टम एप्लीकेशन Create की जाती है.C++ लैंग्वेज High level लैंग्वेज के Features को भी सपोर्ट करता है. इसिलए हम C++ लैंग्वेज को middle level लैंग्वेज कहते है.

8) Faster Speed

C++ प्रोग्रामिंग लैंग्वेज assembly लैंग्वेज के बाद सबसे Fast लैंग्वेज मानी जाती है C++ लैंग्वेज का compilation and execution Time बहुत Fast होता है.

इस लैंग्वेज को low level लैंग्वेज भी कहा जाता है. C++ लैंग्वेज hardware से काफी करीब होती है. इसलिए यह दूसरी    languages से Fast होती है. C++ में Create की गयी एप्लीकेशन की speed भी फ़ास्ट होती है.

9) Structured

यह Language Structured Programming Language भी है. इसमें हम Program को Function और Class में devided कर सकते है.

10) Machine Independent or Portable

Assembly Language होने पर भी C++ Programs को Different मशीन मैं बिना किसी Change के साथ Execute किया जा सकता है. लेकिन यह Platform Independent नही है.

11) Extensible

C++ एक Extensible Programming Language है. क्योकि इसमें कोई भी नए Features आसानी से ADD हो जाते है.

C++ Language Related Lecture:- C++ लैंग्वेज से सम्बंधित Lecture

Dear Student,s मैं आशा करता हु की आपको Features of C++ का Lecture पड़ क्र समझ में आ गया होगा. की C++ के Features क्या है और C++ Language इतनी Popular Language कैसे है. यदि आपको (Features Of  C++) के Lecture से Related कोई भी Problem है तो आप हमे Comment करके पूछ सकते है.

Share This Post On

About Author

Thakur Aman Singh

Hey, I am Aman Singh Tomar from Taj City Agra. Through This Blog I want to share my Knowledge with all of you. Read More >>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *