Flow Chart

Dear Students, आज के इस Lecture में हम सीखेंगे Flow Chart बारे में । फ्लो चार्ट क्या होता है और कैसे काम करता है ? Flow Chart कैसे बनाते है? इस से Related सारे topic हम इसी lecture में पड़ेगे.

Lectures Covering Topics – Flow Chart in C In Hindi – सी भाषा में फ्लो चार्ट क्या होते है?

  • Introduction To Flow chart In C In Hindi – फ्लो चार्ट का परिचय
  • What Is Flow Chart In Hindi – सी लैंग्वेज मैं  फ्लो चार्ट क्या होते है?
  • Symbols Of Flow Chart In Hindi – सी भाषा मैं फ्लो चार्ट के प्रतीक
  • Examples Of Flow Chart In C Language – फ्लो चार्ट के लिए उदाहरण

Introduction To Flow chart In C In Hindi – फ्लो चार्ट का परिचय

Flow chart किसी भी algorithm की graphical process होती है। जिसमे different symbols का उपयोग करके instruction को represent किया जाता है। इसमें प्रोग्रामर का पूरा ध्यान समस्या के समाधान (problem solution) पर होता है न की प्रोग्राम की बारीकियों पर होता है।

अक्सर विधार्थी के साथ ऐसा होता है की वो जब भी कोई program बनाते है। तो वह बिना किसी फ्लो चार्ट बनाते है। और कोई दूसरा विधार्थी उस program के code को आसानी से नहीं समझ सकता है। इस में हम अपने प्रोग्राम को graphical represent करते है।

ऐसा करने से हमारे program को कोई भी आसानी से समझ सकता और समझा भी सकता है। इसका सबसे बड़ा advantage ये होता है की ये किसी भी एक programming language के लिए नहीं बना होता है। Flow Chart को देखकर आप उसके process को किसी भी programming language में implement कर सकते हो।

 What Is Flow Chart In Hindi – सी लैंग्वेज मैं  फ्लो चार्ट क्या होते है?

Students Flow chart किसी भी problem का solution के process का graphical representation होता है। और language मैं यह प्रोग्राम के execution के graphical representation होता है।

तो students आप किसी company या organization के लिए एक प्रोग्रामर की तरह काम करेंगे।  प्रोग्राम की coding करने से पहले flow chart बनाना बहुत जरूरी होता है। क्योंकि company आपकी जगह अगर कोई दूसरा programmer आता है। तो आपके बनाये हुए project को आसानी से समझ कर उस project को continue  है।

इसीलिये कोई भी अच्छी company किसी भी project पर काम करने से पहले उसके flow chart पर बहुत अच्छी तरह से ध्यान देती है। यह हमारे प्रोग्राम का blue print होता है।

जैसे किसी building के बनाने से पहले उसके map को बनाया जाता है। उसके बाद उस building का मटेरियल और आगे की process start की जाती है। हमे जितना समय building को बनाने मैं नहीं लगता उससे ज्यादा समय building को map बनाने में लगता है।

ठीख उसी तरह हमें जितना समय coding में नहीं लगता है उससे कई ज्यादा समय flow chart बनाने मैं लगता है। और किसी भी प्रोग्राम की आगे की process उसके फ्लो चार्ट से start होती है। जईसे की program की algorithm है। तो एक अच्छा programmer बनने के लये आपकी फ्लो चार्ट बनाना सीखना चाहिए।

Symbols Of Flow Chart In Hindi – सी भाषा मैं फ्लो चार्ट के प्रतीक

Flow chart को बनाने के लिए हमें कुछ symbols का उपयोग करना होता है चलिए इन symbols के बारे में पढ़ लेते है।

  • फ्लो चार्ट की शुरुआत और अंत – Start & End:- ये oval का symbol होता है। इसका उपयोग फ्लो चार्ट को start और end  लिए किया जाता है। इस symbol को terminal symbol जाता है। आपको प्रोग्राम की process की starting और ending को define करना  होता है।

oval flow chart in c

  • प्रक्रिया (Processing):- यह rectangle का symbol होता है। इसका उपयोग हम प्रोग्राम की execution को  प्रदर्शित (represent) करने के लिए करते है। प्रोग्राम मैं कोई भी ऐसे statement जिसमे कोई execution हो रही हो उसे हम rectangle मैं represent करते है।

rectangle flow chart in c

  • Input & Output:- इस symbol को हम parallelogram कहते है। इस symbol का उपयोग हम इनपुट और आउटपुट को represent करने के लिए करते है।

parallelogram flow chart in c

  • निर्णय (Decision):- हीराकार(Diamond) symbol  का उपयोग हम decision making statement को प्रदर्शित करने के लिए करते है।

Diamond flow chart in c

  • तीर (Arrow) :- Arrow symbol का उपयोग हम प्रोग्राम का फ्लो represent करने के लिए करते है।  इसे सभी सिंबल के उपयोग के बाद उस symbol का फ्लो दिखने के लिए किया उपयोग किया जाता है।

arrow flow chart in c

Examples Of Flow Chart In C In Hindi – फ्लो चार्ट के कुछ उदाहरण:-

माना की हम एक ऐसा प्रोग्राम बना रहे है जो की यूजर से दो नंबर इनपुट लेगा। और बतायेगा की उन दोनों नम्बरों में से कोनसा नंबर बड़ा है।

example of flow chart in c

  • ऊपर बनाया गए चार्ट में terminal symbol का उपयोग करके फ्लो चार्ट को start किया गया है।
  • Rectangle symbol में दो variable create किये गए है x और y ।
  • Parallelogram में x और y को read किया गया है। इसमें यूजर ने कुछ इनपुट किया होगा।
  •  Decision (Diamond symbol) box में x और y को compare कराया गया होगा। अगर condition true होगी तो right में और false होगी तो left में फ्लो होगा।
  • अगर condition true हुयी होगी तो parallelogram box में print x हुआ होगा। और condition false होने पर y print हुआ होगा।
  • अब terminal symbol के साथ फ्लो चार्ट के process को end किया गया है।

Flow Chart In C Language Related Lecture – C Language से संबंधित Lectures

Dear Students, मैं यह आशा करता हूँ की आपको Flow Chart in C का Lecture पढ़ कर समझ में आ गया होगा की C Language में फ्लो चार्ट क्या होते है? फ्लो चार्ट कैसे काम करता है? यदि आपको फ्लो चार्ट  के इस Lecture से सम्बंधित कोई भी समस्या है तो आप हमें Comment करके पूछ सकते है.

Share This Post On

About Author

Thakur Aman Singh

Hey, I am Aman Singh Tomar from Taj City Agra. Through This Blog I want to share my Knowledge with all of you. Read More >>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *